Today: February 22, 2020 12:58 am
Your menu is empty or not selected! How to config a menu

भारत बनाम इंग्लैंड के बीच हो सकता है वर्ल्ड कप फाइनल

 भारत बनाम इंग्लैंड के बीच हो सकता है वर्ल्ड कप फाइनल

 

जयपुर – 8 जून।  क्रिकेट वर्ल्ड कप के आज एक चौथाई मैच पूरे हो गए है। भारत के अलावा सभी टीमों ने दो से तीन मैच खेल लिये है । वर्ल्ड कप में बल्लेबाजों की बात की जाये तो इंग्लैंड के बल्लेबाज सर्वाधिक अच्छी फार्म में नजर आ रहे है, इंग्लैंड के बल्लेबाजों को घरेलू परिस्तिथियों में खेलने का फायदा मिल रहा है । वर्ल्ड कप की प्रबल दावेदारों में से इंग्लैंड की टीम ने तीनों  मैचों में 300 से अधिक रन बनाकर यह साबित कर दिया है की उनकी बल्लेबाजी में गहराई है । बांग्लादेश के विरुद्ध मैच जीतकर इंग्लैंड अंक तालिका में टॉप पर बनी हुई है । वर्ल्ड कप के 12 मैचों में अभी तक 5 शतक लगे उनमें से 3 इंग्लैंड, एक शतक बांग्लादेश व एक शतक भारत से आया है।

वर्ल्ड कप में बाकी टीमों की बात की जाये तो उनमें से न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रेलिया, वेस्टइंडीज व भारत की टीम बल्लेबाजी व गेंदबाजी में संतुलित टीम नजर आ रही है। अन्य  एशियाई टीमों की बात की जाये तो पाकिस्तान, श्रीलंका व बांग्लादेश का खेल भी अच्छा है तथा इन टीमों में इतनी क्षमता है की ये टीमें कभी भी अपने खेल से विरोधी टीमों का खेल बिगाड़ सकती है। वर्ल्ड कप में दक्षिणी अफ्रीका ने अपने पहले तीन मैच गवां दिए है तथा उनका वापसी कर अंतिम चार में जगह बना पाने की सम्भावना लगभग न के बराबर ही है।

भारतीय टीम की बात की जाये टीम बल्लेबाजी व गेंदबाजी में बहुत ही संतुलित है तथा इंग्लैंड के बाद वर्ल्ड कप की प्रबल दावेदार है। भारतीय टीम में धवन, रोहित शर्मा, विराट कोहली, धोनी व के एल राहुल को ऊपरी क्रम में दमदार बल्लेबाजी करनी होगी वहीं केदार जाधव व हार्दिक पंडया से भी विस्फोटक बल्लेबाजी की उम्मीद रहेगी। भारतीय टीम में विकेट के पीछे धोनी की चपलता व उनका लम्बा अनुभव  विराट कोहली को जरूर मददगार रहेगा।

गेंदबाजी के लिहाज से बात की जाये तो वर्ल्ड कप के अभी तक खेले गए मैचों में तेज गेंदबाजों का बोलबाला रहा है लेकिन कुछ स्पिन गेंदबजों ने भी अपनी छाप छोड़ी है उनमें से भारत के यजुवेंद्र चहल, अफगानिस्तान के मोहम्मद  नबी, श्री लंका के नुवान प्रदीप प्रमुख है। इंग्लैंड के मौसम के हिसाब से जून व जुलाई में अधिक गर्मी की वजह से उम्मीद है की वर्ल्ड कप के दूसरे हाफ में स्पिन गेंदबाजी अधिक प्रभावी रहेगी।

जैसे – जैसे टीमों के मैच होते जायेंगे तो अंतिम चार में प्रवेश करने की होड़ भी बढ़ जाएगी ऐसे में टीमों को अपनी नेट रन रेट को भी बनाये रखना होगा। कभी – कभी इंग्लैंड का मौसम भी टीमों की किस्मत बिगाड़ सकती है जैसे पाकिस्तान बनाम श्रीलंका के मैच में टीमों को 1 – 1 अंक बाँटना पड़ा।

इस बार वर्ल्ड कप राउण्ड रोबिन लीग के आधार पर खेला जा रहा है ।  इससे पहले 1992 में राउण्ड रोबिन आधार पर वर्ल्ड कप खेला गया था। इसमें टीमों को अंतिम चार में पहुँचने के लिए कम से कम 5 या 6 मैच जीतना जरूरी होगा वह भी अच्छी नेट रन रेट से।

वर्ल्ड कप में  अंतिम चार टीमों में जगह बनाने की बात की जाये तो इंग्लैंड, न्यूजीलैंड, भारत, ऑस्ट्रेलिया व वेस्टइंडीज में से पहुंचने की प्रबल सम्भावना है। मेरा अनुमान है की भारत बनाम इंग्लैंड के बीच 14 जुलाई को फाइनल मैच खेला जायेगा।

 

ओम शर्मा

संपादक, प्राइम स्पोर्ट्स

    Leave a Reply